भारत तथा इसके डायसपोरा के बीच बढ़ते संबंध


भारत अपने डायसपोरा के योगदानों तथा उपलब्धियों से बहुत अधिक आनंदित हो सकता है।भारतीय मूल के लोग दुनिया में बड़ी संख्या में बसे हुए हैं तथा विश्व में हर तरफ़ फैले हुए हैं।डायसपोरा की परिभाषा ग्रीक फैलाव या बिखराव से मिलती है, जो मूल रूप से स्थानीयकृत एक बिखरी जनसंख्या…

मेक इन इण्डिया अभियान – सफलता का सफ़र


विकास की आकांक्षा रखने वाले किसी भी देश के लिए विनिर्माणक्षेत्र की तेज़ और प्रभावी उन्नति बेहद ज़रूरी है। इसी नज़रिए से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सितम्बर 2014 में मेक इन इण्डिया अभियान की नींव रखी थी। इसका लक्ष्य देश के सकल घरेलू उत्पाद में विनिर्माणक्षेत्र का योगदान 16 से बढ़ाकर 25 फीसदी तक लेजाना और…

अमेरिका, तुर्की और कुर्दों का प्रश्न।


उत्तरी सीरिया में कुर्दों के सवाल पर अमरीका और तुर्की एक बार फिर आमने-सामने आ गए हैं। हालिया तल्खी तुर्की द्वारा कूटनीतिक नज़रिए से अहम मन्बिज शहर पर हमले की धमकी के बाद उभरी है, जिसकी मार्फत वह इस कुर्दबहुल इलाके को सीरियन डेमोक्रेटिक फोर्स यानि एस.डी.एफ. के कब्ज़े से…

ब्रेग्ज़िट समझौते की पराजय : भविष्य की संभावनाओं पर एक निकट की दृष्टि


ब्रेग्ज़िट से संबन्धित अनिश्चितताएं 230 मतों द्वारा थेरेसा मे को ख़ारिज किए जाने के साथ और अधिक सुस्पष्ट हुईं | इस घटनाक्रम के साथ, कंज़र्वेटिव सरकार के लिए एक आशंका पहले से ही बनी हुई थी, क्योंकि लेबर नेता जेरेमी कॉर्बेन ने एक अविश्वास प्रस्ताव रखा | इस अविश्वास प्रस्ताव…

क्या पाकिस्तान सीपीईसी के ख़र्च में कटौती कर रहा है?


इमरान खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ(पीटीआई) सरकार ने पहले कहा था कि वह चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारे(सीपीईसी) की समीक्षा करेगी जिससे पारदर्शिता बढ़े और भ्रष्टाचार से भी मुक्ति मिले। इस महीने आरम्भ होने वाले सरकारी क्षेत्र के विकास कार्यक्रम पीएसडीपी के अधीन पीटीआई सरकार सीपीईसी प्राथमिकता सूची में से…

चाबहार बन्दरगाह का चालू होना: भारत-ईरान-अफ़ग़ानिस्तान त्रिपक्षीय संबन्धों में एक नया आयाम


चाबहार संधि के नाम से प्रसिद्ध अंतर्राष्ट्रीय परिवहन गलियारे की स्थापना भारत ईरान और अफ़ग़ानिस्तान के बीच एक लंबी और जटिल त्रिपक्षीय संधि  प्रक्रिया का सुफल था। ईरान के सिस्तान-बलूचिस्तान प्रांत में स्थित, आर्थिक रूप से महत्वपूर्ण चाबहार बन्दरगाह का संचालन हाल ही में इंडिया ग्लोबल पोर्ट्स लिमिटेड ने औपचारिक रूप से…

पहले भारत-मध्य एशिया संवाद ने क्षेत्र के साथ सम्बन्धों को बढ़ाया


भारत तथा मध्य एशिया के पाँच गणतन्त्र, कज़ाख़स्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान तथा उज़्बेकिस्तान ने पहली बार उज़्बेकिस्तान के समरकन्द में विदेश मंत्री स्तर के भारत-मध्य एशिया संवाद का आयोजन किया। विदेश मंत्री, श्रीमति सुषमा स्वराज ने उज़्बेकिस्तान के विदेश मंत्री, श्री अब्दुलअज़ीज़ कमिलोव के साथ इस संवाद की सह-अध्यक्षता की।…

भारत तथा नेपाल ने द्विपक्षीय सम्बन्धों की समीक्षा की


नेपाल के विदेश मंत्री, प्रदीप कुमार ज्ञवाली गत सप्ताह “रायसीना संवाद” के चौथे संस्करण में भागीदारी करने के लिए नई दिल्ली की यात्रा पर आए थे | उन्होंने इस अवसर पर भारत-नेपाल के सम्बन्धों के विभिन्न पहलुओं पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ विचारों के आदान-प्रदान किए | दोनों…

संसद में इस सप्ताह


16वीं लोकसभा का अंतिम से पहला सत्र इस सप्ताह संपन्न हुआ। इस दौरान अगड़ी जातियों के आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग को दस प्रतिशत आरक्षण देने संबंधी विधेयक पारित किया गया। दोनों सदनों ने सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से पिछड़े सदस्यों को उच्च शिक्षा संस्थानों तथा नौकरियों में दस…

ब्रेक्सिट – थेरेसा मे सरकार के लिए चुनौती


ऐसा प्रतीत होता है कि ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे की सरकार के लिए सामने आ रहा राजनीतिक परिदृश्य बहुत जटिल होने वाला है क्योंकि हाऊस ऑफ कॉमंस में ब्रेक्जिट वापसी समझौते से जुड़ी  स्वीकृति लेना आसान कार्य नहीं है। यूके की संसद ने इस सप्ताह एक वित्त संशोधन विधेयक…