संसद में इस सप्ताह

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उप राष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चन्द्रयान-2 के सफल प्रक्षेपण के लिए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के दल को बधाई दी। श्री कोविंद ने कहा कि ये ऐतिहासिक प्रक्षेपण सभी भारतीयों के लिए गर्व का क्षण है और आशा है कि इस अभियान से जानकारी व्यवस्था और नई खोजों को बढ़ावा मिलेगा। उप-राष्ट्रपति नायडू ने कहा कि चन्द्रयान-2 की सफल लैंडिग के साथ भारत ऐसा करने वाला चौथा देश बन जाएगा। अपने संदेश में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ये कहते हुए भारतीय वैज्ञानिकों की मेहनत और प्रतिबद्धता की सराहना की कि ये प्रक्षेपण उनके विश्वास और क्षमताओं का शानदार उदाहरण है। 

विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर ने कहा कि भारत का लगातार यही रूख रहा है कि पाकिस्तान के साथ सभी लंबित मुद्दे केवल द्विपक्षीय वार्ता द्वारा ही सुलझाए जाएंगे। जम्मू और कश्मीर के बारे में अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने दावे पर राज्य सभा में संक्षिप्त वक्तव्य देते हुए उन्होंने सदन को आश्वस्त किया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अमरीका के राष्ट्रपति से मध्स्थता के लिए किसी प्रकार का कोई अनुरोध नहीं किया है। विदेश मंत्री ने फिर से कहा कि नई दिल्ली का लगातार यही फैंसला रहा है कि इस्लामाबाद के साथ सभी लंबित मुद्दों को द्विपक्षीय वार्ता द्वारा ही सुलझाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सीमा पर आतंकवाद की समाप्ति के बाद ही पाकिस्तान से कोई बात की जाएगी। उन्होंने बताया कि शिमला समझौते और लाहोर घोषणापत्र से ये आधार मिलता है कि दोनों पड़ौसियों के बीच द्विपक्षीय तौर पर ही मुद्दे सुलझाए जाएँ। विपक्ष के कुछ सदस्य इस पर जोर देते रहे कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को डोनल्ड ट्र्म्प के वक्तव्य पर टिप्पणी करनी चाहिए। विपक्ष के सदस्यों ने लोकसभा में भी ये मुद्दा उठाया। 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कश्मीर मुद्दे पर किसी तीसरे पक्ष द्वारा मध्यस्थता किए जाने का कोई सवाल ही नहीं पैदा होता क्योंकि ये शिमला समझौते के खिलाफ है। लोकसभा में बोलते हुए श्री सिंह ने कहा कि विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि पिछले माह ओसाका में राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मुलाकात के दौरान कश्मीर मुद्दे पर कोई चर्चा नहीं की गई। उन्होंने कहा कि दोनो नेताओं की मुलाकात के समय विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर भी वहॉ मौजूद थे। रक्षा मंत्री ने ये भी कहा कि पाकिस्तान के साथ जो भी वार्ता होगी वो सिर्फ कश्मीर के बारे में नहीं बल्कि पाक अधिकृत कश्मीर के बारे में भी होगी।

कांग्रेस नेतृत्व वाले विपक्ष के बहिष्कार के बीच लोकसभा ने गैरकानूनी गतिविधियॉ (बचावकारी) संशोधन विधेयक, 2019 पारित किया गया। बहस का जवाब देते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि इस से सरकार को ताकत मिलती है कि आतंकी गतिविधि में शामिल होने वाले, इसकी तैयारी मे शामिल होने, इसे बढ़ावा देने या फिर किसी और प्रकार से आतंकवाद से जुड़ने वाले किसी व्यक्ति को आतंकवादी घोषित कर सकती है। विधेयक के अनुसार राष्ट्रीय जॉच एजेंसी मामले की जांच के समय सम्पति को जब्त किये जाने की अनुमति भी दे सकती है। 

बच्चों के यौन अपराधों से बचाने वाले संशोधित बिल 2019 को भी राज्य सभा ने मंजूरी दी। इस विधेयक में बच्चों के खिलाफ यौन अपराध करने पर सजा बढ़ाई गई है और इस में मृत्युदंड भी शामिल है। विधेयक पर बहस का जवाब देते हुए महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी ने कहा कि सरकार ने लंबित मामलों के शीघ्र निपटान के लिए 1023 फास्ट ट्रैक न्यायालयों को स्वीकृति प्रदान की है। 

लोकसभा ने ध्वनि मत से मुस्लिम महिला (विवाह के अधिकारों की सुरक्षा) विधेयक, 2019 भी पारित कर दिया। इसे तीन तलाक़ बिल नाम से जाना जाता है। बहस का जवाब देते हुए कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि 2017 में सर्वोच्च न्यायालय द्वारा आदेश दिए जाने के बावजूद अभी भी तीन तलाक़ हो रहा है इसलिए तीन तलाक पर प्रितबंध लगाते विधेयक को लाना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों में अभी भी तीन तलाक किया जा रहा है। इसके कई सौ मामले दर्ज हो चुके हैं। उन्होंने स्पष्ट किया कि ये विधेयक किसी समुदाय अथवा धर्म के खिलाफ़ नहीं है। श्री प्रसाद ने कहा कि विधेयक का उद्देश्य मुस्लिम महिला को भी समान न्याय और सम्मान देना है और बहुत से देशों में तीन तलाक़ पर रोक है।

आलेख – वी मोहन राव, पत्रकार

अनुवाद + वाचन – नीलम मलकानिया