मुख्य समाचार (09.10.2020)

1. कनाडा में जारी इन्वेस्ट इंडिया सम्मेलन को वीडियो कांफ्रेंस के जरिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधित किया। उन्होंने कहा कि भारत दुनिया का सबसे लोकप्रिय निवेश स्थल बनकर उभरा। आज भारत की स्थिति सदृढ है और कल और मजबूत होगी।

2. श्री मोदी ने कहा कि शिक्षा श्रम और कृषि क्षेत्र में सुधार निवेशकों के लिए नए अवसर खोलेंगे। भारत ने अपनी मानसिकता और बाज़ारों में तेज़ी से बदलाव किया है।

3. प्रधानमंत्री ने ये भी कहा है कि भारत के आत्मनिर्भर अभियान का लक्ष्य विश्व कल्याण और खुशहाली है। उन्होंने कहा कि सभी क्षेत्रों में सुधार दूरगामी रहे हैं।

4. लम्बी बीमारी के बाद उपभोक्ता, मामलों, खाद्य एवं सार्वजिक वितरण के केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का निधन हो गया। सरकार ने राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है। देश और प्रांतों की राजधानियों में राष्ट्र-ध्वज आधा झुका रहा।

5. राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, गृहमंत्री, लोकसभा अध्यक्ष, राज्यों के मुख़्यमंत्रियों और सभी दलों के राजनेताओं ने भी श्री पासवान के निधन पर शोक व्यक्त किया है। वो एक वरिष्ठ सांसद थे। राज्यसभा और लोकसभा दोनों के वे सदस्य रहे और वे काफी लोकप्रिय नेता भी थे।

6. 59 लाख 6 हज़ार 69 लोग भारत में कोविड-19 से मुक्त हो चुके हैं। पिछले 24 घंटे में 78 हज़ार 365 लोग संक्रमण मुक्त हुए हैं। भारत में संक्रमण मुक्ति की दर 85.52% है।

7. लगातार 8वें दिन कोविड के नए मामलों में कमी आई है। कुल मामलों में से केवल 12.94% अभी संक्रमण ग्रस्त हैं। भारत में दुनिया की इस संक्रमण से मृत्यु दर सबसे कम 1.54% है।

8. अफ़ग़ानिस्तान की और से उसके प्रतिनिधि जनाब अब्दुल्लाह – अब्दुल्लाह ने प्रधानमंत्री को फ़ोन पर दोहा में जारी अफगान शांति वार्ता की जानकारी दी। प्रधानमंत्री ने दोनों देशों के बीच ऐतिहासिक संबंध और मजबूत करने के बारे में भारत की प्रतिबद्धता दोहराई। भारत अफ़ग़ानिस्तान को 3 अरब अमेरिकी डॉलर की सहायता भी देगा।

9. विश्व व्यापार संगठन की महा निदेशक जल्द ही एक महिला होंगी। चूंकि प्रमुख पद की उम्मीदवार नाईजीरिया की ढगोज़- ओकोंजो- इवेआला तथा कोरिया की यू-म्यूंग ही हैं।

10. किर्गिस्तान में संसदीय चुनावों के परिणाम रद्द होने के बाद विरोध प्रदर्शन जारी है। मंत्रिमंडल इस्तीफा दे चुका है। पूर्व राष्ट्रपति अल्माज़बेक अतामबायेफ को प्रदर्शनकारियों ने छोड़ दिया है। कुछ इमारतों पर उनका कब्ज़ा है। कार्यवाहक गृहमंत्री के अनुसार पुलिस ने लूटपाट रोकी है। किर्गिस्तान के कई नागरिकों को देश न छोड़ने के आदेश दिए गए हैं।