भारतीय महिला हॉकी टीम के खिलाड़ियों में है आत्मविश्वास की कमी- कोच

भारतीय महिला हॉकी टीम ने हाल में भले अच्छे नतीजे दिए हों, लेकिन टीम के कोच मारिने शोर्ड का मानना है कि खिलाड़ी ऊंची रैंकिंग वाली टीमों के सामने आत्मविश्वास की कमी का शिकार हो जाती हैं। कोच ने कहा कि वह इस कमी को दूर करने के लिए टीम को व्यस्त रखने का प्रयास कर रहे हैं। शोर्ड ने पिछले महीने ही महिला टीम के कोच की जिम्मेदारी संभाली है। महिला टीम ने हाल ही में वेस्ट वैंकुवर में हॉकी विश्व लीग राउंड-2 का खिताब जीता है। जीत के साथ टीम हॉकी विश्व लीग सेमीफाइनल में पहुंच गई है, जो विश्व कप क्वालीफायर भी है। नीदरलैंड्स से एक साक्षात्कार में उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि कभी-कभी भारतीय टीम मैदान में कदम रखने से पहले ही हार जाती है। ऐसा तब होता है, जब वह ऊंची रैंकिंग वाली टीम के सामने खुद को छोटा समझती है। मैं चाहता हूं कि वह दूसरों की बजाय अपने बारे में सोचे। उन्हें अपने लक्ष्य के बारे में सोचना चाहिए और उसे पाने के लिए हरसंभव प्रयास करना चाहिए।’