स्वीडन ने भारत में स्मार्ट शहर के विकास में गहरी रूचि प्रकट की।

स्वीडन ने स्मार्ट शहर के विकास में गहरी रूचि प्रकट की है। उन्होंने विकसित होने वाले स्मार्ट शहरों में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के अलावा टिकाऊ और ग्रीन मैत्रीपूर्ण सार्वजनिक परिवहन समाधानों को बढ़ावा देने में अपनी विशेषज्ञता और तकनीक लागू करने के लिए एक आम योजना का सुझाव दिया है।

स्वीडन के यूरोपीय संघ के मामलों और व्यापार मंत्री एन लिंडे ने गुरुवार को शहरी विकास मंत्री एम.वेंकैया नायडू से मुलाकात की और स्मार्ट शहरों के विकास में सहयोग के क्षेत्रों पर विस्तृत चर्चा की।

उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी मिशन ने स्वीडन को एक अनूठा अवसर प्रदान किया है जिस एक समझौते के आधार पर किया गया है यह समझौता 2015 में भारत के साथ हस्ताक्षरित किया गया था। समझौता ज्ञापन स्थायी शहरी विकास को बढ़ावा देने से संबंधित है।

स्वीडिश मंत्री ने कहा कि उनका देश कचरा प्रबंधन, शहरी गतिशीलता समाधान, स्मार्ट पार्किंग सिस्टम, वायु निस्पंदन, वास्तविक समय की जानकारी प्रणालियों, कमांड और नियंत्रण प्रणालियों में वैश्विक नेता है, जो भारतीय शहरों में स्मार्ट सिटी योजनाओं को लागू करने हेतु उत्सूक है।

श्री नायडू ने कहा कि चयनित स्मार्ट शहरों को स्वीडिश प्रौद्योगिकियों और विशेष रूप से सार्वजनिक परिवहन और ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के क्षेत्रों में स्वीडन के अनुभव का लाभ के मिलेगा।