साजन

आलेख एंव प्रस्तुति – प्रियंका सिंह

1991 की रोमांटिक-ड्रामा फिल्म ‘साजन’ में संजय दत्त, माधुरी दीक्षित और सलमान खान ने मुख्य भूमिका निभाई हैं। लॉरेंस डिसूजा के निर्देशन में बनी इस म्यूज़िकल फिल्म के गाने आज भी नए लगते है। फिल्म की कहानी के साथ-साथ फिल्म का संगीत भी फिल्म की सबसे बड़ी ख़ासियत साबित हुई। फिल्म ‘साजन’ 1991 में बॉक्स ऑफिस पर सबसे ज़्यादा कमाई करने वाली फिल्म बनी। फिल्म की कहानी एक प्रेम-त्रिकोण पर आधारित है जिसमें अमन वर्मा (संजय दत्त) एक गुमनाम शायर के रूप में काफी प्रसिद्ध हो जाते हैं और सागर की नज़्मों से पूजा (माधुरी दीक्षित) को प्यार हो जाता है, लेकिन कहानी में मोड़ तब आता है जब अमन के बचपन के दोस्त आकाश (सलमान खान) को भी पूजा से ही प्यार हो जाता है। अमन, आकाश और उसके परिवार के एहसानों तले दबा हुआ है लिहाज़ा वो अपना प्यार आकाश के लिए कुर्बान करने का फैसला करता है। फिल्म इसी पृष्ठभूमि के साथ कई आकर्षक मोड़ लेते हुए आगे बढ़ती है। इस फिल्म की शूटिंग मात्र 36 दिनों में पूरी की गई जो उस ज़माने में बहुत बड़ी बात थी। फिल्म में संजय दत्त के रोल के लिए निर्देशक लॉरेंस की पहली पसंद आमिर खान थे लेकिन आमिर को स्क्रिप्ट अच्छी नहीं लगी और ये रोल संयज दत्त को दे दिया गया। फिल्म में माधुरी की जगह भी आयशा झुल्का को साइन किया गया था लेकिन शूटिंग के पहले ही दिन आयशा को तेज़ बुखार  होने की वजह से माधुरी दीक्षित को फिल्म का हिस्सा बनाया गया। फिल्म साजन के ज़रिए संजय दत्त और सलमान खान ने भी पहली बार साथ काम किया। लोकप्रियता, अभिनय और बॉक्स-ऑफिस रिकॉर्ड को देखते हुए फिल्म साजन को फिल्म फेयर की नौ अलग-अलग श्रेणियों में नामांकित किया गया लेकिन फिल्म के कर्णप्रिय तरोताज़ा संगीत की अपार सफलता ने बाज़ी मारी और नदीम-श्रवण को सर्वश्रेष्ठ संगीत-निर्देशक का और गायक कुमार सानू को  गीत “मेरा दिल भी कितना पागल है” के लिए बेस्ट मेल सिंगर का फिल्म फेयर अवॉर्ड भी दिया गया। फिल्म में गायक बाला सुब्रमन्यम् ने सलमान खान और कुमान सानू ने संजय दत्त को अपनी आवाज़ें दी हैं।  फिल्म में पहली बार माधुरी दीक्षित और सलमान खान की जोड़ी फिल्मी परदे पर दिखाई दी जिसे दर्शकों ने खूब सराहा और आगे भी इस जोड़ी ने हिन्दी सिनेमा को कई हिट फिल्में दीं।