आने वाले वर्षों में तिलहन, दलहन उत्पादन में आत्मनिर्भर होगा भारत- कृषि मंत्री

केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह को उम्मीद है कि आने वाले वर्षों में भारत दलहन, तिलहन के उत्पादन में आत्मनिर्भर हो जाएगा। सरकार ने इनका उत्पादन बढ़ाने के लिए अच्छी गुणवत्ता के बीज और तकनीक के उपयोग को लेकर कदम उठाए हैं। उल्लेखनीय है कि देश में अभी 50 लाख टन दाल और 1.45 करोड़ टन वनस्पति तेल (खाद्य-अखाद्य) का हर साल आयात किया जाता है ताकि घरेलू मांग को पूरा किया जा सके। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) के 89वें स्थापना दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि सरकार ना केवल इनके उत्पादन को बढ़ाने के लिए कदम उठा रही है बल्कि कृषि को आय-केंद्रित बनाने के लिए भी प्रयासरत है जो उसके 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने के लक्ष्य से प्रेरित है। श्री सिंह ने आईसीएआर के वैज्ञानिकों से इस लक्ष्य को पाने की दिशा में काम करने का आह्वान किया और कृषि क्षेत्र में कौशल विकास किए जाने पर जोर दिया।