देश के कई भागों में बाढ़ से जनजीवन अस्त व्यस्त

देश के कई भागों में बाढ़ से जनजीवन अस्त व्यस्त है। गुजरात में पिछले दो दिनों से हो रही भारी वर्षा के कारण अब तक नौ लोग मारे गये हैं। राज्य के राजस्व मंत्री भूपेन्द्र सिंह चूडासमा ने बताया कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल और वायुसेना बाढ़ प्रभावित इलाकों से अब तक चार सौ से ज्यादा लोगों को बाहर निकाल चुकी है। सौराष्ट्र और कच्छ क्षेत्र में बाढ़ से हजारों लोग प्रभावित हुए हैं। अहमदाबाद मौसम केन्द्र के अनुसार राज्य के कई हिस्सों में अगले दो दिनों तक मध्यम से भारी वर्षा जारी रह सकती है। ओडिशा में भारी बारिश से नागबली तथा कल्याणी नदियों का जलस्तर तेजी से बढ़ने के कारण रायगढ़ और कालाहांडी जिलों के कई स्थानों में अचानक बाढ़ आ गई है। रायगढ़ जिले का कल्याणसिंहपुर ब्लॉक सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है। हिमाचल प्रदेश में भी पिछले चैबीस घंटों के दौरान ज्यादातर हिस्सों में लगातार बारिश से ब्यास, सतलुज और यमुना नदियों में जलस्तर बढ़ रहा है। मौसम विभाग ने अगले चौबीस घंटों के दौरान करीब आठ जिलों में कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश की चेतावनी दी है। शिमला के घानवी इलाके में सुबह बादल फटने से कई गांवों का बाकी इलाकों से संपर्क कट गया। इस बीच, मणिपुर घाटी में सभी प्रमुख नदियों का जलस्तर पिछले दो दिनों में घटा है। हालांकि घाटी के निचले जिले इम्फाल पूर्व, इम्फाल पश्चिम, थाउबल, काकचिंग और बिष्णुपुर अभी भी पानी में डूबे हुए हैं। करोड़ों रुपयों की खड़ी फसल बर्बाद हो गई है। बाढ़ से मछली पालन के अधिकतर तालाब भी प्रभावित हुए हैं।