विनोद खन्ना व अनिल माधव दवे को श्रद्धांजिल देने के बाद संसद दिनभर के लिये स्थगित

दिवंगत लोकसभा सदस्य विनोद खन्ना, केन्द्रीय मंत्री अनिल माधव दवे एवं चार अन्य  दिवंगत सदस्यों को श्रद्धांजलि देने के बाद संसद की कार्यवाही दिनभर के लिये स्थगित कर दी गई। मानसून सत्र के पहले दिन आज बैठक राष्ट्रगान की धुन के साथ शुरू हुई। इसके बाद लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने लोस के वर्तमान दिवंगत सदस्य विनोद खन्ना और राज्यसभा के वर्तमान सदस्य अनिल माधव दवे एवं चार पूर्व सदस्यों को पूरे सदन की ओर से श्रद्धांजलि दी। महाजन ने सदन को बताया कि विनोद खन्ना गुरदासपुर संसदीय सीट का प्रतिनिधत्व कर रहे थे। वे 12वीं और 14वीं लोकसभा के भी सदस्य थे। वे 2002 से 2004 तक पर्यटन और विदेश राज्य मंत्री भी रहे। वे एक जाने माने फिल्म अभिनेता थे और उन्हें कई सम्मान भी प्राप्त हुए थे। वे 1998 से 2002 तक फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट पुणे के अध्यक्ष भी रहे। उनका निधन 27 अप्रैल 2017 को 70 वर्ष की आयु में मुम्बई में हुआ था। केन्द्रीय मंत्री दवे का गत 18 मई को 60 वर्ष की आयु में निधन हुआ। उन्होंने पर्यावरण विशेषकर नर्मदा नदी के संरक्षण क्षेत्र में दवे के कार्यों की सराहना करते हुए उन्हें एक योग्य सांसद एवं कुशल प्रशासक बताया। उन्होंने उच्च सदन में अगस्त 2009 से जून 2010, जून 2010 से जून 2016 तथा जून 2016 से अपने निधन तक मध्य प्रदेश का प्रतिनिधित्व किया। उन्होंने दवे को एक योग्य सांसद एवं कुशल प्रशासक बताते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी। अध्यक्ष ने सदन के चार पूर्व सदस्यों सूबेदार प्रसाद सिंह, अजीत कुमार साहा, ईरा सेजियन और नारायण सिंह चौधरी के निधन पर उन्हें पूरे सदन की ओर से श्रद्धांजलि दी। सदस्यों ने इन दिवंगत वर्तमान सदस्यों एवं पूर्व सदस्यों के सम्मान में कुछ क्षणों का मौन रखा। लोकसभा अध्यक्ष ने बाद में वर्तमान सदस्य विनोद खन्ना के सम्मान में बैठक को पूरे दिन के लिए स्थगित कर दिया।