रंगकर्मी समीप सिंह से मोबीन अहमद ख़ान की बातचीत