नेपाल में संसद और प्रांतीय विधानसभा चुनावों के दूसरे और अंतिम चरण का मतदान शुरू हो गया है।

नेपाल-भारत सीमा सील कर दी गई है और दोनों देशों के सुरक्षाकर्मी सीमाई इलाकों में संयुक्त गश्त लगा रहे हैं। आखिरी दौर में 4482 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। 1 करोड़ 22 लाख से अधिक मतदाताओं के लिए 15344 मतदान केन्द्र बनाए गये हैं। राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी और प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने लोगों से पूरे उत्साह के साथ मतदान में भाग लेने की अपील की है। इस ऐतिहासिक चुनाव को नेपाल में लोकतांत्रिक संघवाद की दिशा में एक अंतिम कदम माना जा रहा है। उम्मीद है कि इन चुनाव के बाद इस हिमालयी राष्ट्र में बहुप्रतिष्ठित राजनीतिक स्थिरता कायम होगी।