भारत ने अमरीका-उत्‍तर कोरिया शिखर वार्ता को सकारात्‍मक कदम बताया

भारत ने अमरीका और उत्तर कोरिया के बीच सिंगापुर में हुए शिखर सम्मेलन का स्वागत किया है। विदेश मंत्रालय के बयान के अनुसार यह एक सकारात्मक घटनाक्रम है। भारत ने वार्ता और राजनयिक पहल से कोरियाई प्रायद्वीप में शांति और स्थिरता के सभी प्रयासों का हमेशा समर्थन किया है। भारत ने आशा व्यक्त की है कि शिखर सम्मेलन के परिणामों को लागू करने से इस क्षेत्र में दीर्घकालीन शांति और स्थिरता का रास्ता खुलेगा। भारत ने यह भी आशा व्यक्त की है कि कोरियाई प्रायद्वीप मुद्दे का समाधान खोजते समय भारत के पड़ोस में परमाणु प्रसार के बारे में इसकी चिंताओं को ध्यान में रखा जाएगा तथा इसका समाधान तलाशा जाएगा।

वहीं अमरीका ने कोरियाई प्रायद्वीप के पूरी तरह परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए उत्तर कोरिया की मजबूत और अटल प्रतिबद्धता के बदले, उसे सुरक्षा गारंटी देने का फैसला किया है।