21वें फ़ीफ़ा फ़ुटबॉल विश्‍व कप में आज इंग्‍लैंड और बेल्जियम का मुक़ाबला

 

रूस में 21वें फ़ीफ़ा फ़ुटबॉल विश्‍व कप में आज तीसरे स्‍थान के मुकाबले में इंग्‍लैंड और बेल्जियम की टीम आमने-सामने होंगी। सेंट पीटर्सबर्ग में यह मैच भारतीय समय के अनुसार शाम साढ़े सातबजे से खेला जायेगा। बेल्जियम और इंग्लैंड की टीम फीफा विश्वकप के सेमीफाइनल में हार के बाद खिताब की दौड़ से तो बाहर हो चुकी हैं लेकिन अब इस मुकाबले में जीत से दोनों टीमों के पास कम से कम रूस से विजयी विदाई लेने का अच्छा मौका रहेगा। इस मुकाबले में इंग्‍लैंड के बैंच पर बैठे कई खिलाड़ियों को मौका मिल सकता है। इंग्लैंड की 23 सदस्यीय टीम में रिजर्व गोलकीपर जैक बटलैंड और निक पोप अभी तक मैदान में नहीं उतरे हैं। इंग्लैंड की टीम 1966 में विश्व कप जीत के बाद अपना दूसरा श्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहेगी। उधर, बेल्जियम और उसकी सुनहरी पीढ़ी के ज्यादातर खिलाड़ी चार साल बाद होने वाले अगले विश्व कप काहिस्सा हो सकते हैं। अनुभवी विंसेंट कंपनी और जेन वर्टोनघेन विदाई भी ले सकते हैं। कोच मार्टिनेज के पास बेल्जियम को अब तक अपना श्रेष्ठ स्थान दिलाने का मौका है। बेल्जियमकी टीम 1986 में चौथे स्थान पर रही थी। इंग्लैंड के कप्तान हैरीकेन छह गोल के साथ गोल्डन बूट की रेस में सबसे आगे चल रहे हैं और बेल्जियम के स्ट्राइकररोमेलू लुकाकू उनसे दो गोल पीछे हैं। अगर हैरी केन एक गोल और कर लेते हैं तो वह 2002 के बाद विश्व कप में सर्वाधिक गोल करने वाले खिलाड़ी बन जाएंगे। और अगर केन दो गोल और कर पाए तो ब्राजील के रोनाल्डो की बराबरी कर लेंगे। 12साल पहले जब ब्राजील ने अपना रिकॉर्ड पांचवां खिताब जीता था तब रोनाल्डो ने आठ गोल किए थे। इनमें दो गोल फाइनल मैच के थे। टोटेनहेम के लिए खेलने वाले हैरीकेन अगर गोल्डन बूट अवॉर्ड जीत लेते हैं तो 1986 में गैरी लिने करके बाद वह ऐसा करने वाले इंग्‍लैंड के दूसरे खिलाड़ी होंगे।