केरल में भारी वर्षा और भूस्‍खलन की घटनाओं में मृतकों की संख्‍या बढ़कर हुई 26।

केरल में लगातार भारी वर्षा और भू-स्खलन के कारण 26 लोगों की जान गई है। बड़े पैमाने पर भू-स्खलन और बाढ़ से पूरे राज्य में भारी नुकसान हुआ है। राज्य के उत्तरी जिले सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। इन जिलों में रेड अलर्ट जारी किया गया है।
यह पहला मौका है जब विभिन्न बांधों में जलस्तर बढ़ने और इसके लगभग अधिकतम क्षमता तक पहुंचने के कारण फालतू पानी बाहर निकालने के लिए कम से कम 24 जलाशयों के शटर खोले गये हैं। नदियों के किनारे बसे लोगों से सुरक्षित स्थानों पर जाने को कहा गया है। कई सड़कें बह जाने के बाद विभिन्न जिलों में सड़क यातायात पर असर पड़ा है। राहत और बचाव कार्यों में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल और सेना की मदद ली जा रही है।
प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने केरल के मुख्‍यमंत्री पिनरई विजयन से बातचीत की और राज्‍य के विभिन्‍न भागों में बाढ़ और भूस्खलन से उत्‍पन्‍न स्थिति पर विचार-विमर्श किया। प्रधानमंत्री ने प्रभावित लोगों को हरसंभव सहायता का आश्वासन दिया।