जल्दी ही एक लाख करोड़ रुपये से अधिक हो जाएगी जन धन खातों में जमा रकम

प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत खोले गए खातों में जमा रकम जल्द एक लाख करोड़ रुपये के आंकड़े को पार कर जाएगी। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक जन धन खातों में तीन अप्रैल तक 97,665.66 करोड़ रुपये जमा किए जा चुके थे। प्रधानमंत्री जन धन योजना को 28 अगस्त, 2014 को लांच किया गया था। इसका मकसद देशभर के सभी परिवारों में कम से कम एक बैंक खाता सुनिश्चित करना था। नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक इसके खाताधारकों की संख्या 35.39 करोड़ को पार कर गई है। इनमें से 27.89 करोड़ से ज्यादा खाताधारकों को रूपे डेबिट कार्ड भी जारी किया जा चुका है। इसकी सफलता को देखते हुए ही सरकार ने इन खातों के तहत दुर्घटना बीमा की राशि एक लाख रुपये से बढ़ाकर दो लाख रुपये कर दी थी। ओवरड्रॉफ्ट लिमिट भी दोगुनी होकर 10,000 रुपये हो गई। जन धन खाता धारकों में से 50 फीसद से अधिक महिलाएं हैं, जबकि लगभग 59 फीसद खाते ग्रामीण और अर्ध-शहरी क्षेत्रों में खोले गए हैं। प्रधानमंत्री जनधन योजना का उद्देश्य लोगों की विभिन्न वित्तीय सेवाओं तक पहुंच को सुनिश्चित करना है जैसे कि बुनियादी बचत बैंक खाते की उपलब्धता, आवश्यक कर्ज तक आसान पहुंच, रेमिटेंस की सुविधा, कमजोर वर्गों और निम्न आय समूहों के लिए बीमा और पेंशन की सुविधा सुनिश्चित करना।