राज़ी

आलेख और प्रस्तुति – वीरेन्द्र कौशिक

कदम कदम बढाये जा…

क़दम क़दम बढ़ाये जा, खुशी के गीत गाये जा/ ये ज़िंदगी है क़ौम की, तू क़ौम पे लुटाये जा/ तू शेर-ए-हिन्द आगे बढ़, मरने से तू कभी न डर/ उड़ा के दुश्मनों का सर, जोश-ए-वतन बढ़ाये जा/ क़दम क़दम बढ़ाये जा, ख...

24 फ़रवरी 2019

मेरे प्यारे देशवासियो, नमस्कार | ‘मन की बात’ शुरू करते हुए आज मन भरा हुआ है | 10 दिन पूर्व, भारत-माता ने अपने वीर सपूतों को खो दिया | इन पराक्रमी वीरों ने, हम सवा-सौ करोड़ भारतीयों की रक्षा में ख़ुद को...